WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
youtube Channel Subscribe

Education Update: छात्रों को आईआईटी में कंप्यूटर साइंस कोर्स में कम रुचि का सामना करना पड़ा

Education Update: छात्रों को आईआईटी में कंप्यूटर साइंस कोर्स में कम रुचि का सामना करना पड़ हाल ही में आई एआईटी कानपुर ने अपनी काउंसलिंग प्रक्रिया के दौरान छात्रों के बीच में देखा गया कि कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग कोर्स में इस बार कम दिलचस्पी है। यह खबर सबको हैरान करने वाली है, क्योंकि पहले राउंड में ही इस कोर्स की सीटें पूरी हो गईं थीं। हम इस विषय पर विस्तार से चर्चा करेंगे।

छात्रों की चुनौती:

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
youtube Channel Subscribe

जेईईए एडवांस्ड 2023 में सफलता प्राप्त करने वाले छात्रों को अब JoSAA के माध्यम से इंजीनियरिंग कोर्स में आवंटित किया जा रहा है। इसके दौरान आईआईटी कानपुर में कंप्यूटर साइंस कोर्स में कम दिलचस्पी की बात सामने आई है।

सीटों का हाल:

कहा जा रहा है कि आईआईटी कानपुर में कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग की सीटों की पूर्ति दूसरे राउंड में ही हो गई, जबकि गणित और डेटा साइंस की सीटें पहले ही फूल हो गईं थीं। इससे साफ होता है कि कंप्यूटर साइंस के अलावा भी कई इंजीनियरिंग ब्रांचेस में छात्रों की बड़ी चाहत है।

खोज का सफर:

इस अद्भुत बदलाव के पीछे एक वजह है – अन्य आईआईटीज में छात्रों ने कंप्यूटर साइंस को चुना है। आईआईटी बॉम्बे और अन्य स्थानों पर टॉप रैंकर्स ने इस कोर्स को अपनाया है, जिससे कंप्यूटर साइंस की सीटें भर गई हैं।

छात्रों की सोच:

छात्रों का मानना ​​है कि ऐसे में कंप्यूटर साइंस की सीटों में कमी हो सकती है और इससे आईआईटी में एडमिशन पाना मुश्किल हो सकता है, इसलिए उन्होंने अन्य ब्रांचेस में भी रुचि दिखाई है। मैथमेटिक्स एंड साइंटिफिक कंप्यूटिंग को बढ़ावा देते हुए वे ने अपना चयन किया हैं।

आखिरी विचार:

इससे स्पष्ट है कि आईआईटी कानपुर में इंजीनियरिंग कोर्सों में सिविल, इलेक्ट्रिकल, मैथमेटिक्स, डेटा साइंस और अन्य ब्रांचेस में भी छात्रों का उत्साह बना हु

Leave a Comment